झलमला में बना उच्चतर माध्यमिक शाला हुआ डेढ़ साल में ही जर्जर, कल सीएम के कार्यक्रम में उठ सकता है मुद्दा, पीडब्लूडी विभाग की लापरवाही

Spread the love

”दीपक ठाकुर की रिपोर्ट”
कवर्धा।
वनांचल में शिक्षा को मजबूत करने सरकार हर कदम प्रयास कर रही है। लेकिन बच्चों के लिए बने स्कूल पर ठेकेदार व पीडब्लूडी विभाग के अधिकारी ही पानी फेर रहे है। यही कारण है कि बच्चों को अच्छी शिक्षा से दूर रहना पड़ता है।
कल प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का झलमला के लोगो से सीधे भेंट मुलाकात वार्ता है। वही करीब डेढ़ साल पहले ही पीडब्लूडी विभाग द्वारा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का निर्माण किया गया है। लेकिन डेढ़ साल में ही भवन में दरार आने लगी है। निर्माण के बाद ही भवन जर्जर होने लगा है। जबकि विभाग के अधिकारी ठेकेदार को सुधार हेतु कोई निर्देश नही दिया गया। इसके कारण लोक निर्माण विभाग द्वारा घटिया निर्माण करवाकर बच्चों को पढ़ाई करने सौप दिया गया है। लेकिन अब जर्जर भवन में बच्चे पढ़ाई करने मजबूर हो चुके है। निर्माण के कुछ ही दिनों बाद दीवार में बड़े बड़े दरार व टाइल्स उखड़ने लगे है। वही दरवाजा भी टूट रहा है। अब मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में बिल्डिंग के घटिया बनने की शिकायत करने लोग चर्चा कर रहे है। जबकि जिले में बैठे लोकनिर्माण विभाग के अधिकारी शांत बैठे हुए है। वही विभाग दरार को छूपाने का प्रयास कर रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.