कांग्रेस द्वारा सत्ता के दुरुपयोग किए जाने के विरोध स्वरूप भाजयुमो ने सौंपा राज्यपाल को लिखा पत्र

Spread the love

“वैभव चौधरी की रिपोर्ट”

धमतरी।भाजयुमो ने कहा कि विगत कुछ दिनों से छत्तीसगढ़ राज्य में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के विधायक एवं अन्य नेतागण भारत सरकार की सैन्य सेवाओं में नए अवसर के रूप में आये अग्नीपथ योजना के विरोध के नाम पर बड़ी-बड़ी सभाएं कर अपने कार्यकर्ताओं को बिहार, झारखंड और बंगाल जैसे राज्यों में विगत दिनों हुए उग्र और हिंसक प्रदर्शन का हवाला देते हुए उसी प्रकार की गतिविधि और हिंसक आंदोलन के लिए सड़कों में उतरने का आवाहन किया जा रहा है। लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन प्रत्येक सामाजिक या राजनीतिक या दलीय कार्यकर्ता का संवैधानिक अधिकार है। परंतु विरोध के नाम पर आगजनी तोड़फोड़ एवं हिंसा करना या उसके लिए उकसाना एक दंडनीय अपराध है। यह विषय और संवेदनशील तब हो जाता है, जब राज्य में सत्तारूढ़ दल जिसकी जिम्मेदारी राज्य में कानून व्यवस्था को संभालने की हो उन्हीं के विधायक व नेतागण अपने कार्यकर्ताओं को इस प्रकार की हिंसा के लिए भड़काते पाए जा रहे है जिसपर प्रशासन के समक्ष मूक दर्शक की भूमिका के अलावा कुछ बच नही रहा। ताजा वाकिया तब सामने आया जब वर्तमान में बीजापुर विधानसभा के विधायक विक्रम मंडावी की एक वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है, जिसमें वह एक सभा मे अपने कार्यकर्ताओं से कहते हुए पाए जा रहे हैं की बिहार, झारखंड जैसे अन्य राज्यों में जिस प्रकार हिंसक प्रदर्शन एवं तोड़फोड़ आगजनी हुई है, उसी प्रकार छत्तीसगढ़ में भी उनके कार्यकर्ता सड़क में उतर कर इस प्रकार के कृत्य को अंजाम दें। सत्तारूढ़ दल के विधायक द्वारा इस प्रकार के वक्तव्य निश्चित ही एक गंभीर आपराधिक प्रकरण है।वर्तमान में महाराष्ट्र के सत्तारूढ़ दल शिवसेना के 1 राज्य सभा सांसद द्वारा इसी प्रकार के भड़काऊ वक्तव्य के बाद वहां के कई विधायकों के दफ्तरों घरों पर तोड़फोड़ एवं आगजनी की घटना देखने को मिली है। पूर्व में भी दिल्ली में कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी जी के द्वारा सड़क में उतारकर आग लगाने जैसी वक्तव्य के बाद दिल्ली में हिंसक प्रदर्शन एवं बाद में दंगे के रूप में घटनाक्रम को देखा गया। अभी वर्तमान में देश के कई स्थानों पर एक समुदाय के मजहबी आस्था को ठेस पहुंचाने के नाम पर भी तोड़फोड़ आगजनी के लिए जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों द्वारा लोगों को भड़काया गया। जिससे हिंसा एवं आगजनी भड़की।इसलिए भारतीय जनता युवामोर्चा धमतरी ने अपने धमतरी डिप्टी कलेक्टर उषा राज के माध्यम से राज्यपाल के नाम पत्र सौंपा व विषय की गंभीरता का हवाला देते हुए न्यायउचित कार्यवाही की मांग की गुहार लगाई।ज्ञापन देते वक्त भाजयुमो प्रतिनिधि मंडल के रूप में जिलाकार्यसमिति सदस्य एवं निगम पार्षद मिथलेश सिन्हा, मंडल मंत्री चिराग आथा मीडिया प्रभारी प्रिंस जैन, प्रतीक सोनी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.