ब्रेकिंग :2008 से सक्रिय 8 लाख के ईनामी नक्सली ने किया आत्मसमर्पण

Spread the love


”नरेश भीमगज की रिपोर्ट”
कांकेर। सुन्दरराज पी.(भा.पु.से) पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज जगदलपुर, बालाजी राव(भा.पु.से) पुलिस उप महानिरीक्षक कांकेर रेंज कांकेर, संजय शर्मा उप महानिरीक्षक बीएसएफ सेक्टर कांकेर के मार्गदर्शन,शलभ कुमार सिन्हा(भा.पु.से) पुलिस अधीक्षक कांकेर के निर्देशन में नक्सलियों के विरूद्ध चलाये जा रहे, नक्सल उन्मुलन अभियान के तहत महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त हुआ। शासन की पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर तथा नक्सलियों के खोखली विचारधारा, उनके शोषण, अत्याचार,हिंसा से तंग आकर सी. पी. आई.माओवादी संगठन अंतर्गत प्रतिबंधित माओवादी संगठन माड़ डिवीजन अंतर्गत सक्रिय कंपनी नंबर-7 (सीसी प्रोटेक्शन कंपनी) सदस्य महिपाल आंचला उर्फ कार्तिक उर्फ राकेश उर्फ विश्वा उर्फ विनय पिता स्व. सूक्कू राम आंचला उम्र 34 वर्ष साकिन ग्राम जुंगड़ा थाना कोयलीबेड़ा जिला कांकेर जो नक्सली संगठन में वर्ष 2008 से सक्रिय है। छ.ग. शासन की ईनाम पॉलिसी के तहत् उक्त माओवादी सदस्य पर 8 लाख रुपये का ईनाम घोषित है। आज 27 सितंबर को शलभ कुमार सिन्हा पुलिस अधीक्षक कांकेर के समक्ष पुलिस अधीक्षक कार्यालय कांकेर के सभागृह में आत्मसमर्पण किया। उक्त आत्मसमर्पित नक्सली को आत्मसमपर्ण कराने में 30 वीं वाहिनी बीएसएफ का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। आत्मसमर्पित नक्सली को प्रोत्साहन राशि 10 हजार रूपये नगद प्रदान किया गया एवं शासन से प्राप्त सहायता नियमानुसार प्रदाय की जावेगी। इस अवसर पर डॉ. अनुराग झा उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय कांकेर, अमरनाथ सिदार अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अंतागढ, श्री प्रशांत चतुर्वेदी एसी ऑप्स बीएसएफ सेक्टर कांकेर उपस्थित थे।
आत्मसमर्पित नक्सली महिपाल आंचला का संक्षिप्त विवरण
नक्सली संगठन के माड़/उत्तर बस्तर संयुक्त डिवीजन कमांड इन चीफ नागेश द्वारा वर्ष 2008 भर्ती किया गया। वर्ष 2008 से 2010 तक कोयलीबेड़ा क्षेत्र में सक्रिय नक्सली कमांडर नागेश के दलम में कार्य किया। वर्ष 2010 में बेसिक कम्युनिष्ट ट्रेनिंग स्कूल में 06 माह तक पढ़ाई किया उसके उपरांत वर्ष 2011 से 2012 तक बेसिक कम्युनिष्ट ट्रेनिंग स्कूल पार्टी के साथ माड़ क्षेत्र में भ्रमण करता रहा। वर्ष 2012 में माड़ क्षेत्र अंर्तगत कंपनी नंबर-07 (सीसी प्रोटेक्शन कंपनी) में भेज दिये जहां कंपनी का सक्रिय सदस्य रहकर नक्सली आनंद के साथ कम्प्यूटर ऑपरेटर का कार्य करता रहा। अगस्त 2022 में नक्सल संगठन को छोड़कर घर आ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.