50 हजार रुपये की रिश्वत लेते क्लर्क रंगे हाथों गिरफ्तार

Spread the love


अंबिकापुर। एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) की टीम ने सोमवार को नवीन मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले के खड़गवां महिला एवं बाल विकास कार्यालय में रेडी-टू-ईट फूड सप्लाई की बकाया रकम भुगतान के एवज में 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते क्लर्क को रंगे हाथों पकड़ा है। क्लर्क ने महिला स्व सहायता समूह द्वारा की गई सप्लाई की बकाया रकम 6.50 लाख रुपये का भुगतान करने के एवज में डेढ़ लाख रुपये रिश्वत मांगी थी। बाद में एक लाख रुपये में सौदा तय हुआ था। क्लर्क की शिकायत पर एसीबी अंबिकापुर की टीम ने खड़गवां पहुंचकर रिश्वत लेते क्लर्क रविशंकर खलखो को गिरफ्तार कर किया है।
महिला स्व-सहायता समूह की अध्यक्ष ने एंटी करप्शन ब्यूरो अंबिकापुर में शिकायत दर्ज की थी कि समूह द्वारा वर्ष 2021-22 में रेडी टू ईट सामग्री का निर्माण एवं वितरण का काम किया गया था। 6 महीने का बिल करीब 9 लाख रुपये बकाया था। बकाया राशि में 2 लाख 50 हजार रुपये का भुगतान हुआ है। शेष राशि लगभग 6 लाख 50 हजार रुपये का भुगतान करने के एवज में कार्यालय परियोजना अधिकारी, एकीकृत बाल विकास परियोजना खडग़वां के क्लर्क रविशंकर खलखो ने 1.50 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। बाद में रविशंकर खलखो और प्रार्थिया के बीच दो किस्तों में 50-50 हजार रुपये कुल एक लाख रुपये में सौदा तय हुआ।
एसीबी अंबिकापुर की टीम ने शिकायत की जांच की। शिकायत सही पाए जाने पर सोमवार को योजना बनाकर एसीबी की टीम ने खड़गवां पहुंच प्रार्थिया को रिश्वत की रकम 50 हजार रुपये देकर क्लर्क के पास भेजा। लेखापाल ने प्रार्थिया से जैसे ही महिला एवं बाल विकास कार्यालय में 50 हजार रुपये लिए आस-पास पहले से मौजूद एसीबी की टीम ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। रुपयो में केमिकल लगा हुआ था, जिससे रिश्वत लेना प्रमाणित हो गया। मामले में आरोपी के खिलाफ धारा 7(क), 12 भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर बैकुंठपुर न्यायालय में देर शाम पेश किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.