एसडीएम ने पालकों से कहा एक सप्ताह के भीतर हो जाएगी शिक्षकों की कमी पूरी

Spread the love

”संतोष सोनकर की रिपोर्ट”

राजिम । शहर के स्वामी आत्मानंद उत्कृष्ट इंग्लिश मीडियम स्कूल में दिन शुक्रवार को अपराह्न 2:00 बजे पालकों की बैठक रखी गई थी जिसमें बड़ी संख्या में पालकों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की। सबसे पहले शिक्षकों ने अपना परिचय दिया तथा बैठक की शुरुआत करते हुए संकुल समन्वयक सुभाष शर्मा तथा शिक्षक संतोष सूर्यवंशी ने बैठक के उद्देश्य को रखा और पालक समिति बनाने की बात रखें जिस पर पालकों ने नाम दिया। जिनमें से 8 महिला एवं आठ पुरुष पालक का नाम अंकित किया गया। पश्चात सबसे पहले स्कूल में शिक्षकों की समस्या को पालकों ने जोर-शोर से उठाया और कहा कि बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है शिक्षकों की पूर्ति शीघ्र किया जाए। इस पर उपस्थित शिक्षकों ने बताया कि दोपहर 12:00 से एक बजे के बीच राजिम एसडीएम स्कूल पहुंचे थे। वहां उपस्थित एक पालक नीलम साहू ने बताया कि मैंने खुद उन्हें पूछा तब बताया कि एक सप्ताह के भीतर शिक्षकों की पूरी व्यवस्था हो जाएगी। इतने पर पालक यह कहते रहे की यही स्थिति रही तो हमारे बच्चों का भविष्य खराब हो जाएगा जिसकी जिम्मेदारी कौन लेगा। बताना होगा कि अभी भी स्कूल में मात्र 8 शिक्षक की व्यवस्था कर पाए हैं तथा 2 शिक्षक दूसरे आत्मानंद स्कूल से यहां व्यवस्था में पहुंचे हैं और दो प्रयोगशाला के शिक्षक हैं इस तरह से मात्र 12 शिक्षकों के भरोसे 14 कक्षाएं संचालित है। अभी भी यहां छात्र कंबाइन बैठते हैं। प्राथमिक शाला में मात्र 2 शिक्षक है। दो क्लास के बच्चों को एक साथ बिठाने के कारण मात्र बच्चे स्कूल में ही बैठ रहे हैं पढ़ाई का ठिकाना नहीं है जिसकी चिंता पालकों ने की। जैसे ही एसडीएम वाली बात सुने उसके बाद पालकों ने कहा कि जैसे तैसे एक सप्ताह तक और इंतजार कर लेते हैं उसके बाद अधिकारी से लेकर मंत्री तक शिक्षकों की व्यवस्था के लिए गुहार लगाएंगे। उल्लेखनीय है कि यहां ग्राउंड भी अच्छी नहीं हैं ग्राउंड में घास उग आए हैं तथा कीचड़ भी दिखाई दिए। अभी तक यूनीफार्म उपलब्ध नहीं कराने की बात पर कहा की प्रशासन जब देगी तब देगी हम लोग खुद अपने बच्चों के लिए यूनिफॉर्म उपलब्ध कराएंगे। इस पर एक पालक खड़े होकर कहा कि मैं खुद 5 बच्चों को यूनिफॉर्म उपलब्ध करा लूंगा। प्रत्येक महीने पालकों की एक मीटिंग रखने की भी बात हुई। कुल मिलाकर पालक अपने बच्चों की पढ़ाई को लेकर बहुत चिंतित नजर आए और प्रशासन से शीघ्र शिक्षकों समेत हर व्यवस्था को दुरुस्त करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.