‘आपको लगता है कि मैं गरीब होने के कारण खुद को ₹10,000 में बेच दूंगा?’ अंकिता ने कथित तौर पर आरोपी को बताया

Spread the love


देहरादून। उत्तराखंड के एक रिजॉर्ट में काम करने वाली अंकिता भंडारी की हत्या के बाद पूरे उत्तराखंड में नाराजगी का माहौल है। अंकिता भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य के रिजॉर्ट में कार्यरत थीं। खबरों के मुताबिक पुलकित अंकिता पर अनैतिक काम का दवाब बना रहा था, जिसके लिए अंकिता ने मना कर दिया। नतीजतन पुलकित ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर अंकिता की हत्या कर दी। अंकिता का शव चिल्ला नदी से बरामद किया जा चुका है।
अब अंकिता की आखिरी चैट सामने आई है, जिससे पता चलता है कि उन्हें उस रिजॉर्ट में अपने स्वाभिमान बचाने के लिए कितना जूझना पड़ रहा था। रिपोर्ट्स के मुताबिक अंकिता ने अपने एक व्हाट्सएप चैट में कहा कि पुलकित आर्य के सहायक अंकित गुप्ता ने उन्हें होटल के मेहमानों को “अतिरिक्त सेवाएं” प्रदान करने के लिए मजबूर करने की कोशिश की थी।
उन्होंने कहा, “आज, अंकित मेरे पास आया और मुझसे कहा कि वह मुझसे कुछ बात करना चाहता है रिसेप्शन डेस्क के पास एक कोने में चली गई। वहां उसने मुझसे पूछा कि क्या मैं एक ऐसे मेहमान को ‘अतिरिक्त सेवाएं’ देने के लिए तैयार हूं जो 10,000 रुपये देने को तैयार है। मैंने स्पष्ट रूप से उससे कहा कि मैं गरीब हो सकती हूं, लेकिन मैं खुद को आपके रिसॉर्ट को 10,000 रुपये में नहीं बेचूंगी। खबरों के मुताबिक पुलकित अंकिता पर अनैतिक काम का दवाब बना रहा था, जिसके लिए अंकिता ने मना कर दिया। नतीजतन पुलकित ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर अंकिता की हत्या कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.