सड़क हादसे में घायल बिलासपुर के युवक की घर में मौत, तीन महीने बाद कब्र से निकाला गया शव

Spread the love

”सुरेश यादव की रिपोर्ट”

बिलासपुर । बिलासपुर जिला के पचपेड़ी थाना क्षेत्र में हुए सड़क हादसे के बाद स्वजन घायल को निजी अस्पताल ले गए। अस्पताल में उपचार के दौरान स्र्पये नहीं होने पर उसे लेकर घर आ गए। घर में ही उसकी मौत हो गई। इस पर स्वजन ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। तीन महीने बाद पुलिस घायल की पतासाजी करते हुए उसके घर पहुंची। तब पता चला कि घायल की मौत हो चुकी है। पुलिस ने दंडाधिकारी की मौजूदगी में शव निकलवाकर पोस्टमार्टम कराया गया है।
पचपेड़ी थाना क्षेत्र के ग्राम सेमराडीह में रहने वाले अनिकेत नेताम बाइक मैकेनिक हैं। उन्होंने अपनी शिकायत में बताया कि 25 मई की शाम उनके पिता भागवत प्रसाद(42) अपने दामाद रामकुमार जगत के साथ किसी काम से जोंधरा की ओर जा रहे थे। जोंधरा में तेज रफ्तार हाइवा ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसे के बाद आसपास के लोगों ने उन्हें बलौदाबाजार जिले के लवन स्थित अस्पताल में उपचार के लिए भेज दिया। इस पर स्वजन अस्पताल पहुंचे। भागवत को मामूली चोटे आई थी। वहीं, रामकुमार की स्थित गंभीर थी। उसे बिलासपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
उपचार के दौरान स्र्पये नहीं होने के कारण वे घायल रामकुमार को घर लेकर आ गए। दो जून को घायल रामकुमार की मौत हो गई। स्वजन ने इसकी जानकारी पुलिस को नहीं दी। इधर मामला दर्ज होने के कारण पुलिस घायल का बयान दर्ज करने अस्पताल पहुंची। अस्पताल में पता चला स्वजन उसे लेकर दूसरे अस्पताल चले गए हैं। बाद में पुलिस को पता चला कि उसकी मौत हो गई है। स्वजन ने पुलिस को सूचना दिए बगैर उसका अंतिम संस्कार कर दिया है। इस पर पुलिस ने रामकुमार के बेटे राजकुमार का बयान दर्ज किया। बुधवार को दंडाधिकारी की मौजूदगी में कब्र खोदवाकर शव निकलवाया गया। पोस्टमार्टम के बाद स्वजन ने शव दफना दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.