सड़क हादसे को नियंत्रित करने दुर्घटनाजन्य क्षेत्रों का चिन्हांकन करें : कलेक्टर

Spread the love


धमतरी। जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी की अध्यक्षता और एस.पी. प्रशांत ठाकुर की मौजूदगी में आज आयोजित की गई, जिसमें विभिन्न एजेण्डों पर सकारात्मक चर्चा हुई। बैठक में सड़क दुर्घटना नियंत्रित करने, आम लोगों में यातायात के प्रति जागरूकता लाने तथा सड़क सुरक्षा को पुख्ता बनाने संबंधित विभागों के बीच समन्वय स्थापित कर कारगर उपाय करने के उद्देश्य से बैठक आयोजित की गई।
कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज सुबह 11.30 बजे आयोजित बैठक में कलेक्टर श्री रघुवंशी ने निर्धारित एजेण्डों पर चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-30 पूर्णता की ओर है किन्तु वाहनों की गति पर नियंत्रण काफी जरूरी है। इस पर एनएचएआई के अधिकारी ने बताया कि सड़क की पूर्णता के साथ ही जेब्रा क्रॉसिंग, स्टॉप लाइन, कैट आई सहित संकेतक लगाने का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। इस पर कलेक्टर ने मार्च माहांत तक इसे हरहाल में पूरा करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने दुर्घटनाजन्य क्षेत्रों का चिन्हांकन कर नियमानुसार आवश्यक कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। स्कूल आने-जाने के लिए विद्यार्थियों के द्वारा वाहन उपयोग करने किए जाने के मामले में उन्होंने प्रतिदिन औसतन वाहनों की संख्यात्मक जानकारी लेने के निर्देश स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी को दिए। इसी प्रकार विद्यार्थियों व पालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूकता लाने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर चर्चा करते हुए इस दिशा में ठोस कदम उठाने के लिए कहा। सभी स्कूलों में फर्स्टएड बॉक्स की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश कलेक्टर ने दिए। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग में सड़क सुरक्षा पर किए जा रहे कैम्पेन में एनएसएस, रेडक्रॉस और नेहरू युवा केन्द्र को भी शामिल करते हुए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के लिए उन्होंने निर्देशित किया। एसपी श्री ठाकुर ने धमतरी शहर में ट्रैफिक सुधार के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए तथा परस्पर समन्वय के साथ कारगर तरीके अपनाने के टिप्स दिए।
बैठक में समिति के सदस्य सचिव एवं कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग ने 30 दिसम्बर 2022 को आयोजित बैठक में लिए गए निर्णयों पर की गई कार्रवाई की जानकारी दी। साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, पीडब्ल्यूडी, नगरपालिक निगम, चिकित्सा विभाग, शिक्षा, पुलिस विभाग, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग से संबद्ध एजेण्डों पर उनके द्वारा की गई कार्रवाई के बारे में बैठक में विस्तापूर्वक चर्चा की गई। इसके अलावा आईआरएडी के अंतर्गत सड़क दुर्घटना, ग्रे स्पॉट, नवीन चिन्हांकित संवेदनशील स्थलों की जानकारी पीपीटी के माध्यम से दी गई। इस अवसर पर समिति के सदस्यगण, निगम आयुक्त विनय पोयाम, सभी अनुविभाग के एसडीएम सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.