प्राचार्य द्वारा 10 वीं कक्षा में उत्तीर्ण करने बच्चों से मांगे मुर्गे को लेकर आदिवासी छात्र संगठन ने कांकेर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

Spread the love


”नरेश भीमगज की रिपोर्ट”
कांकेर । शिक्षा को व्यापार तो कहीं लाचार करने वाले शिक्षक अब यहाँ तक उतारू हो गये है कि स्कूली छात्र-छात्राओं से उत्तीर्ण करने के एवज में मुर्गा मांगने लगे है जिसकी शिकायत को लेकर कल सोमवार को आदिवासी छात्र युवा संगठन कांकेर कलेक्टर को ज्ञापन भी सौपें है जिसमें कांकेर जिले के अतिसंवेदनशील क्षेत्र कोयलीबेड़ा ब्लॉक के ग्राम पंचायत केसेकोड़ी शासकीय हाईस्कूल बड़पारा के प्रभारी प्राचार्य रोहित कुमार यादव द्वारा 10 वी कक्षा में पढ़ रहे छात्र -छात्राओं को उत्तीर्ण करने के नाम पर बच्चों से मुर्गा की मांग किया गया जिसको लेकर आदिवासी छात्र संगठन ने आरोप लगाते हुए इस मामले को शिक्षा के क्षेत्र में शर्मनाक और दुर्व्यवहार घटना बताया है तो वही कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय छात्रावास छोटेबेठिया की प्रभारी अधीक्षिका सोनवत्ती सिन्हा द्वारा अदरूनी क्षेत्र कोटरी नदी के उस पार के छात्रों को छात्रवास में प्रवेश न लेकर अपने पसंदीदा छात्राओं को छात्रावास में दाखिला दिलाने मनमर्जी करने का मामला भी सामने आया है जिसको लेकर आदिवासी छात्र युवा संगठन सूचना के बाद छात्रावास गये जहाँ संगठन के लोगों से अधीक्षिका द्वारा दुर्व्यवहार कर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया है जिसको लेकर कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय छात्रावास छोटेबेटियां प्रभारी अधीक्षिका सोनबत्ती सिन्हा को प्रभारी पद से हटाये जाने को लेकर छात्रों के पालक व आदिवासी छात्र संगठन द्वारा कांकेर जिला मुख्यालय पहुंच कर कलेक्टर को ज्ञापन सौपा। साथ ही दोनों मामले की जानकारी देते हुए उक्त प्रभारी प्राचार्य व प्रभारी अधीक्षिका के ऊपर कार्यवाही करते हुए तत्काल पद से हटाने की मांग की है तो वही इस मामले में जिला शिक्षा अधिकारी ने मामले की जांच कर उचित कार्यवाही करने का आश्वासन दिया गया है।
राजेश नुरूटी संगठन प्रमुख अध्यक्ष ,संगीता दुग्गा सचिव ,विनोद कुमेटी महामंत्री, गीता दुग्गा महामंत्री, सोमा नुरूटी, लक्ष्मण मण्डावी, पिंकी कुमेटी ,महेश दर्रो किशन बुई आदि उपस्थित थे ।
इस पूरे मामले को लेकर कांकेर कलेक्टर प्रियंका शुक्ला से सम्पर्क किया गया किंतु उन्होंने फोन नहीं उठाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.